Covid-19 Vaccine Tracker | Elon Musk Denies Covid-19 Vaccine | All you Need To Know Covid-19 Vaccine Latest Updates | CovidShield Cvaxine Moderna Pfyzer J&K | अरबपति बिजनेसमैन एलन मस्क ने कहा कि वे और उनका परिवार वैक्सीन नहीं लगवाएगा, जानिए क्यों


  • Hindi News
  • Db original
  • Explainer
  • Covid 19 Vaccine Tracker | Elon Musk Denies Covid 19 Vaccine | All You Need To Know Covid 19 Vaccine Latest Updates | CovidShield Cvaxine Moderna Pfyzer J&K

एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
  • ऑक्सफोर्ड/एस्ट्राजेनेका का कोवीशील्ड का हो सकता है इसी महीने रेगुलेटरी रिव्यू
  • मॉडर्ना का दावा- अमेरिका में राष्ट्रपति चुनावों से पहले नहीं आने वाला कोई वैक्सीन

पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था कोविड-19 की वजह से मंदी की चपेट में है और वैक्सीन का बेसब्री से इंतजार हो रहा है। ऐसे में अमेरिका के अरबपति बिजनेसमैन एलन मस्क ने यह कहकर सबका ध्यान खींचा कि वे और उनके बच्चे वैक्सीन का इस्तेमाल नहीं करेंगे। उनका दावा है कि इस वायरस को बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया गया है। इससे घबराने की कतई जरूरत नहीं है।

क्यों कह रहे हैं मस्क ऐसा?

  • न्यूयॉर्क टाइम्स के पॉडकास्ट में स्पेस एक्स, टेस्ला और न्यूरलिंक के संस्थापक मस्क ने कहा कि न तो उन्हें और न ही उनके परिवार को वायरस का रिस्क है। वैसे, यह पहली बार नहीं है जब मस्क ने इस वायरस को रोकने के लिए किए गए उपायों पर नाराजगी जताई हो।
  • इससे पहले भी मस्क ने अमेरिका समेत दुनियाभर में लगाए लॉकडाउन को लेकर अपनी नाखुशी जताई थी। उनका कहना है कि वायरस को बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया गया है। जब बताया गया कि इसकी वजह से कई लोगों की जानें गई हैं, तो मस्क ने कहा, जिसने जन्म लिया है, वह मरेगा ही।
  • मस्क का दावा है कि महामारी की वजह से उनकी स्पेस टेक्नोलॉजी कंपनी स्पेसएक्स में एक दिन भी काम प्रभावित नहीं हुआ। महामारी में स्पेसएक्स ने नासा के एस्ट्रोनॉट्स को अंतरिक्ष में भेजा। ऐसा कर वह दुनिया की पहली प्राइवेट कंपनी बन चुकी है।
  • मस्क का कहना है कि लॉकडाउन लगाकर सबको घर बिठा देना अच्छा आइडिया नहीं है। जो रिस्क में है, उन्हें तूफान के गुजर जाने तक क्वारैंटाइन किया जाना चाहिए था। सबको घर बिठाने की जरूरत नहीं थी। खैर, जो हुआ, वो हो गया। अब इस मामले में घबराने की जरूरत नहीं है।

ऑक्सफोर्ड का वैक्सीन रिव्यू के लिए तैयार

  • ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और एस्ट्राजेनेका की ओर से विकसित किए जा रहे कोविड-19 वैक्सीन कोवीशील्ड जल्द ही रिव्यू के लिए तैयार हो जाएगा। यूरोपीय रेगुलेटर एक-दो हफ्ते में इस वैक्सीन का एक्सीलरेटेड रिव्यू शुरू कर सकते हैं।
  • ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट में इस मामले से जुड़े एक व्यक्ति के हवाले से दावा किया है कि कोवीशील्ड यूरोप में रेगुलेटरी अप्रूवल लेने वाला पहला वैक्सीन हो सकता है। यूरोपीय मेडिसिन एजेंसी एक-दो हफ्ते के अंदर इसका रोलिंग रिव्यू शुरू कर सकती है।
  • इस तरह के असेसमेंट इमरजेंसी सिचुएशन में होते हैं। खासकर, कोविड-19 महामारी के प्रकोप को देखते हुए इमरजेंसी अप्रूवल जरूरी हो गया है। इससे लग रहा है कि रिव्यू होने के बाद जल्द से जल्द कोवीशील्ड को रेगुलेटरी अप्रूवल मिल जाएगा।
  • कोवीशील्ड के फेज-3 ट्रायल्स 6 सितंबर को यूके में बंद कर दिए गए थे, जब एक व्यक्ति की तबियत खराब हो गई थी। हालांकि, सेफ्टी जांच के बाद 12 सितंबर को यूके में फिर ट्रायल्स शुरू हो गए। यूके, ब्राजील, भारत और दक्षिण अफ्रीका में भी इस वैक्सीन के क्लिनिकल ट्रायल्स चल रहे हैं।

अमेरिका में राष्ट्रपति चुनावों से पहले नहीं आएगा वैक्सीन

  • अमेिरकी कंपनी मॉडर्ना ने कहा है कि उसका वैक्सीन अगले साल से पहले नहीं आने वाला। कंपनी के सीईओ स्टीफन बांसेल ने कहा कि 25 नवंबर तक हमें पर्याप्त डेटा मिल जाएगा और उस आधार पर वैक्सीन के इमरजेंसी यूज अप्रूवल के लिए एफडीए को फाइल भेजेंगे।
  • बांसेल का कहना है कि अप्रूवल 2021 में फरवरी-मार्च के बाद ही उस पर अप्रूवल आने की उम्मीद है। सीईओ का बयान पब्लिक हेल्थ एक्सपर्ट्स के बयान से मेल खाता है, जो कह रहे थे कि अमेरिका में अगले साल ही वैक्सीन मिल सकेगा। उससे पहले नहीं।
  • दरअसल, अमेरिका में 3 नवंबर को राष्ट्रपति चुनाव है। ऐसे में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प दावा कर रहे थे कि चुनावों से पहले भी वैक्सीन अमेरिकी जनता के लिए अप्रूव किया जा सकता है। हालांकि, पब्लिक हेल्थ एक्सपर्ट्स जल्दबाजी के खिलाफ थे और इस दावे को नकार रहे थे।



Source link

Leave a Comment